Mahashivratri 2020

Maha Shivratri

Maha Shivratri is the most significant sacred festival of India. It is celebrated on the new moon day of the month of Maagh. Shiv temples across the country are beautifully decorated and people offer night long prayer on Shivlingam.

Shiv-Parvati Marriage: According to ancient legend, Shiva and Adi-Shakti(Parvati) got married on this auspicious day. In many places, Shiv linga is decorated as a groom.

Consumed poison: Also, on this day Lord Shiva consumed poison to save the world. And, for a whole night every person was awake praying and waiting for the Lord to regain consciousness.

Became one with Kailash: In Yogic culture, Shiva is not considered as God but Adi Yogi (first guru). On this night Shiva became one with Kailash As still as mountain after thousands of years into meditation. So, ascetics see Mahashivratri as the night of stillness

Natural upsurge of energy: The planetary arrangement in the Northern Hemisphere is such that there is a natural upsurge of energy in the human body, rising from the Kundalini to your head. So, nature is pushing you towards the spiritual peak. So, to gain maximum out of it, you need to stay awake the whole night with your spine erect.

 

Short Poem for LORD SHIVA

Today I have written few lines on Shiva on occasion of Mahashivratri.

आओ भोले तेरी महिमा का गुणगान करे, यही प्रार्थना है तेरे से तू सब भक्तों का उद्धार करे|

कैलाश तुम्हारा घर जिसने हर जंतु को मान दिया
सर्प, मोर, मूषक, सिंह सब प्रीती के साथ रहे
कैलाश के दर्शन से भक्त पूर्णता का आभास करे
तू दर्शन देकर भोले मन, बुद्धि ,अहंकार का नाश करे
आओ भोले तेरी महिमा का गुणगान करे, यही प्रार्थना है तेरे से तू सब भक्तों का उद्धार करे|

सत, रज, तम गुण तूने एक त्रिशूल में धारण किया
डमरू के वादन से संस्कृत का निर्माण हुआ
तेरे उठने बैठने से योग मुद्राओ का अविष्कार हुआ
तीसरा नेत्र खुलने से दुष्कृत्यो का संहार हुआ
आओ भोले तेरी महिमा का गुणगान करे, यही प्रार्थना है तेरे से तू सब भक्तों का उद्धार करे|

ध्यान में तेरे अश्रु बहकर जब पृथ्वी पे कल कल गिरे
उसी से तेरे भक्तो को रुद्राक्ष का प्रसाद मिला
भागीरथ को आशीर्वाद देकर तूने गंगा को धारण किया
गंगोत्री से गंगासागर तक सब जन का कल्याण किया
आओ भोले तेरी महिमा का गुणगान करे, यही प्रार्थना है तेरे से तू सब भक्तों का उद्धार करे|

सप्त ऋषि तुझ गुरु पाकर धन्य धन्य धनवान हुए
तेरे ज्ञान को प्रसारित करके वेद शास्त्र का संचार किया
शिव तांडव श्रुति से भोले आप प्रसन्न हुए
तब रावण को लिखित वेद शास्त्र के गायन का कार्य दिया
आओ भोले तेरी महिमा का गुणगान करे, यही प्रार्थना है तेरे से तू सब भक्तों का उद्धार करे|

पार्वती के तप से शम्भू तुम प्रसन्न हुए
फिर तेरी बारात चली, जिसमे देव, भूत, प्रेत सब साथ चले
वैरागी शिव गृहस्थ जीवन में प्रवेश किये
शिव शक्ति एक दुसरे को परिपूर्ण किये
आओ भोले तेरी महिमा का गुणगान करे, यही प्रार्थना है तेरे से तू सब भक्तों का उद्धार करे|

गौरा का अर्धांग है शंकर, हमारे जीवन का प्राण है शंकर
ज्योतिर्लिंग के दर्शन से जन जन के पाप मिटे
पांच कैलाश यात्रा से आधात्मिक ऊर्जा का संचार बढे
ॐ नमः शिवाय जाप से भोले तेरे साक्षात्कार हुए
आओ भोले तेरी महिमा का गुणगान करे, यही प्रार्थना है तेरे से तू सब भक्तों का उद्धार करे|

गणेश कार्तिकेय गौरा नारायण नंदी के बिन तेरी भक्ति न पूरी हो
मात्र जल, भांग, धतूरे, बेल पत्र के अर्पण से भोले तुम प्रसन्न हो
तेरी लगन जिसको लगे सबसे बड़ा धनवान है वो
तेरी भक्ति के रास पान से जीवन हमारा ओजस हो
आओ भोले तेरी महिमा का गुणगान करे, यही प्रार्थना है तेरे से तू सब भक्तों का उद्धार करे|

जब भी मैं संकट में आयी, प्रभु तूने सर पे हाथ रखा
छण भर में सब विकार मिटे और परम शान्ति का अनुभव हुआ
नंदी के सामान हो जीवन मेरा ऐसा तू आशीर्वाद दे
हर स्वास में शम्भू सिर्फ तेरे ही तेरे नाम रहे
आओ भोले तेरी महिमा का गुणगान करे, यही प्रार्थना है तेरे से तू सब भक्तों का उद्धार करे|

 

HAR HAR MAHADEV!

PC: featured pic is taken from https://in.pinterest.com/pin/405886985153889620/?lp=true

 

Spread the love

2 thoughts on “Mahashivratri 2020

So, did you like the article? Share in comment

%d bloggers like this: